प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना को लेकर राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात की :- “जन से जग तक” पीएम ने आज मुख्यमंत्रियों से बात करते हुए एक नया नारा दिया ,उन्होंने कहा कि हमें जन से लेकर जग तक सभी का ख्याल रखना है ,कोरोना महामारी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों से पांचवी बार बात की, उन्होंने लॉक डाउन के तीसरे चरण के 17 मई को खत्म होने से पहले सभी मुख्यमंत्रियों से इस पर उनके सुझावों को जाना, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राज्यों द्वारा किए गए प्रयासों का सराहना करते हुए कि सभी राज्यों का प्रयास सराहनीय रहा, इस महामारी में सभी को कंधा से कंधा मिलाकर चलना होगा,
केंद्र राज्यों की हरसंभव मदद करने की कोशिश कर रहा है ,देश के कई राज्यों ने लाक डाउन को आगे बढ़ाने की सिफारिश की जिसमें बिहार ,महाराष्ट्र, तेलंगाना, पंजाब , यूपी और पश्चिम बंगाल शामिल है, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा की लाक डाउन को बढ़ाएं बिना हम आगे नहीं बढ़ सकते , उन्होंने मुंबई में लोकल ट्रेन चलाने की भी माँग की, गुजरात ने लॉक डाउन और आगे बढ़ाने का विरोध किया ,
केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन ने अपने विचार रखते हुए कहा कि राज्यों को लॉक डाउन से संबंधित दिशानिर्देशों में उचित बदलाव की स्वतंत्रता मिलनी चाहिए जिससे कि वह इस महामारी से निपटने के लिए अपने हिसाब से दिशा निर्देश जारी कर सकें, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पूरे देश में आवाजाही पर प्रतिबंध की मांग की ,उन्होंने कहा कि हर जोन में आवाजाही बंद होनी चाहिए चाहे वह रेड जोन ,ग्रीन जोन हो या अरेंज हो किसी को भी एक दूसरे जोन कहीं भी आना जाना प्रतिबंधित होना चाहिए, इससे संक्रमण के फैलने का खतरा बना रहेगा ,पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि केंद्र को इस पर राजनीति नहीं करनी चाहिए केंद्र को संघीय ढांचे का पालन करना चाहिए, उन्होंने पैसेंजर व स्पेशल ट्रेन चलाने का भी विरोध किया, तेलंगाना के मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव ने पैसेंजर ट्रेन चलाने को लेकर आपत्ति जताई उन्होंने कहा कि इस तरह से संक्रमण और तेजी से फैलने का खतरा है, वहीं पंजाब के मुख्यमंत्री ने लॉक डाउन को आगे बढ़ाने की सिफारिश करते हुए कहा कि राज्यों को 3 महीने की वित्तीय मदद मिलनी चाहिए , दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कंटेनमेंट जॉन को छोड़कर बाकी अन्य जगहों पर आर्थिक गतिविधियां फिर से शुरू की जानी चाहिए ताकि अर्थव्यवस्था को भी गति मिल सके, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश में 9 लाख प्रवासी मजदूरों को क्वॉरेंटाइन सेंटर में भेजा गया और अभी 10 लाख और मजदूर यूपी आने वाले हैं
पी एम ने 2 सेशन में राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात की ,पहला सेशन 3:00 से 5:30 बजे तक तथा दूसरा सेशन 6:00 बजे से शुरू हुआ ,बीच में आधे घंटे का अवकाश रहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोरोना से निपटने में भारत द्वारा किए गए प्रयासों को वैश्विक मान्यता मिली है, प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र राज्यों के साथ मिलकर काम कर रहा है ,कैबिनेट सचिव राज्यों के सचिवों के साथ लगातार संपर्क में हैं ,उन्होंने संतुलित रणनीति के तहत आगे बढ़ने पर जोर दिया, उन्होंने कहा कि भारत इस संकट से अन्य देशों की तुलना अपने आप को बचाने में बहुत हद तक सफल हुआ जिसकी हर तरफ सराहना हो रही हैै|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here