भारत-चीन तनाव :चीनी सैनिकों से भारतीय सेना का खूनी झड़प:- भारत चीन सीमा पर पिछले कई दिनों से चल रहा तनाव कल खूनी झड़प में बदल गया जब चीनी सैनिकों ने लद्दाख के गलवन घाटी में भारतीय सेना के साथ झड़प हुई जिसमें एक कर्नल सहित 3 भारतीय सैनिक शहीद हो गए ,भारतीय सैनिकों ने इस हिमाकत का करारा जवाब दिया जिसमें चीन के 5 सैनिक मारे गए और 11 से अधिक गंभीर रूप से घायल हो गए |

लद्दाख के गलवन घाटी में चल रहा पिछले कई दिनों से तनाव के बीच जब दोनों सेनाओं के बीच अधिकारी स्तर पर बातचीत चल रही थी, इसी बीच चीनी सैनिकों ने धोखे से भारतीय सैनिकों पर हमला कर दिया, जिसमें 16 बिहार रेजीमेंट के कमांडिंग आफिसर कर्नल संतोष बाबू सहित 3 जवान शहीद हो गए ,चीनी सैनिक अपने साथ पत्थर और कटीले तार लेकर आए थे, जिससे उन्होंने एकाएक भारतीय सेना पर हमला कर दिया, इसके बाद भारतीय सेना ने चीन की धोखेबाजी का करारा जवाब दिया और उन्हें काफी नुकसान पहुंचाया , इस झड़प में किसी भी तरफ से कोई गोली नहीं चली,

भारत और चीन के बीच ऐसा समझा जाता है कि चाहे कुछ भी हो जाए किसी भी तरफ से गोली नहीं चलनी चाहिए, यदि गोली चल जाती स्थित आउट ऑफ कंट्रोल हो सकती थी ,चीन की एक प्रमुख अखबार ने सोशल साइट कई चीनी सैनिकों के मारे जाने की खबर डाली लेकिन कुछ ही देर बाद उसने यह पोस्ट डिलीट कर दी ,वहीं एक चीन की अन्य अखबार ग्लोबल टाइम्स में 5 चीनी सैनिकों के मारे जाने और 11 सैनिकों के घायल होने की खबर दी और उसके बाद यह पोस्ट भी हटा ली गई,

मीडिया में अन्य खबरों के अनुसार भारत के 20 जवान शहीद होने की बात कही जा रही है और साथ ही इस झड़प में चीन को भारी नुकसान होने की बात कही जा रही है, इस झड़प में चीन के 43 जवानों के मारे जाने की खबर भी आ रही है लेकिन चीन की तरफ से अभी इस पर कोई बयान नहीं आया है, चीन हमेशा से अपने हिसाब से खबरों को चलाता है ,इस हिंसक झड़प के बाद चीनी विदेश मंत्रालय ने इस झड़प का सारा दोष भारतीय सेना पर डाला है, उन्होंने कहा कि भारतीय सेना ने चीनी सीमा में घुसकर हमला किया, चीनी विदेश मंत्रालय ने कहा कि भारत चीन के बीच सीमा विवाद को बातचीत से सुलझा लिया जाएगा,

भारत चीन के बीच 45 वर्षों के बाद यह पहला अवसर है जब इस तरह की खूनी झड़प हुई है, 1975 में चीन के सैनिकों ने भारतीय सीमा में पेट्रोलिंग कर रहे असम राइफल्स के जवानों पर धोखे से हमला किया था जिसमें 4 भारतीय सैनिक शहीद हुए थे, भारतीय सेना किसी भी हरकत के लिए पूरी तरह से मुस्तैद है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here